Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_grid_manager_object.labels.php on line 2

Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_shortcode_object.labels.php on line 2

Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_factory_object.labels.php on line 2
स्वाज़ीलैण्ड (Swaziland),यस बैंक (YES Bank),न्यायमूर्ति राजिन्दर सच्चर,कार्ल मार्क्स – Exam Guider

स्वाज़ीलैण्ड (Swaziland),यस बैंक (YES Bank),न्यायमूर्ति राजिन्दर सच्चर,कार्ल मार्क्स

अफ्रीकी के दक्षिण में बसे छोटे से देश स्वाज़ीलैण्ड (Swaziland) के सम्राट मस्वाति तृतीय (King Mswati III) ने 18 अप्रैल 2018 को घोषणा की कि देश का नाम बदलकर “किंग्डम ऑफ ईस्वातिनि” किया जायेगा। उन्होंने यह घोषणा देश की 50वीं वर्षगाँठ तथा अपने 50वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में आयोजित एक संयुक्त कार्यक्रम में यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि वे देश का वही पुराना नाम रखना चाहते हैं जो ब्रिटेन का उपनिवेश बनने से पहले यहाँ के लोग प्रयोग करते थे। स्वाज़ीलैण्ड नाम गुलामी की निशानी है। यह देश 1968 में स्वतंत्र हुआ था।
– उल्लेखनीय है कि सम्राट मस्वाति तृतीय, जोकि अफ्रीका के किसी देश के अंतिम सर्वशक्तिमान शासक हैं, ने इससे पहले भी कई बार देश का नाम बदलने की वकालत की थी। उन्होंने 2017 में संयुक्त राष्ट्र महासभा (U.N. General Assembly) को सम्बोधित करते हुए भी अपने देश को “किंग्डम ऑफ ईस्वातिनि” के नाम से पुकारा था।

######
दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) के पूर्व मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजिन्दर सच्चर (Justice Rajinder Sachar) का 94 वर्ष की आयु में 20 अप्रैल 2018 को दिल्ली में निधन हो गया। वे 6 अगस्त 1985 से 22 दिसम्बर 1985 तक दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रहे थे। सेवानिवृत्ति के बाद वे पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज़ (People’s Union for Civil Liberties – PUCL) नामक एक प्रमुख मानवाधिकार समूह के साथ सक्रिय रूप से जुड़ गए थे।
– वे पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबन्धन (UPA) की सरकार द्वारा वर्ष 2005 में गठित उस समिति के अध्यक्ष थे जिसका गठन भारत के मुस्लिम समुदाय की सामाजिक, आर्थिक व शैक्षणिक स्थिति का आकलन करने के उद्देश्य से किया गया था।
– हालांकि इस समिति द्वारा मुस्लिम समुदाय के उद्धार के लिए प्रस्तुत तमाम सिफारिशों का कुछ पक्षों ने काफी विरोध भी किया था क्योंकि उनका मानना था कि मुस्लिम समुदाय के सरकारी नौकरी में हिस्सेदारी को बढ़ाने के अवैधानिक तरीके इस समिति ने सुझाए हैं।
#######
यस बैंक (YES Bank) को सिंगापुर (Singapore) और लंदन (London) में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि कार्यालय (international representative offices) खोलने की अनुमति भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India – RBI) से मिल गई है। इससे बैंक इन जगहों पर भारतीय समुदाय के कारोबार और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में मदद करने पाएगा। इससे पहले यस बैंक का एक प्रतिनिधि कार्यालय आबूधाबी (Abu Dhabi) में और एक शाखा गांधीनगर (Gandhinagar) की गिफ्ट सिटी (GIFT City) में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र (IFSC) में भी है।

########
मलेशिया में वयोवृद्ध विपक्षी नेता महातिर मोहम्मद (Mahathir Mohamad) की अगुवाई वाले विपक्षी मोर्चे “पाकातन हरापन” (Pakatan Harapan) ने देश में पिछले 6 दशकों ने काबिज सत्ताधारी गठबन्धन “बारिसान नेशनल” (“Barisan Nasional”) को पराजित कर एक नया इतिहास कायम किया। 10 मई 2018 को देश के राष्ट्रीय चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणामों में विपक्षी गठबन्धन को 115 सीटें मिल रही हैं जबकि सत्ता के लिए कम से कम 112 सीटें पाना आवश्यक है।
92 वर्षीय महातिर मोहम्मद अपना राजनीतिक सन्यास छोड़कर पुन: सक्रिय राजनीति में वापस लौटे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नजीब रज्जाक (Najib Razak) के खिलाफ विपक्षी गठबन्धन खड़ा किया। सत्ताधारी गठबन्धन पर बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा है तथा 1एमडीबी (1MDB) नामक राष्ट्रीय कोष के दुरुपयोग के आरोप भी लगे हैं।
#########
दार्शनिक, क्रांतिकारी नेता, समाजवाद के प्रणेता तथा “दास कैपिटल” (“Das Capital”) जैसी कालजयी पुस्तक के रचनाकार कार्ल मार्क्स(Karl Marx) की 200वीं वर्षगाँठ 5 मई 2018 को मनाई गई। मार्क्स का जन्म ठीक 200 वर्ष पूर्व 5 मई 1818 को जर्मनी में हुआ था। इस अवसर पर सारी दुनिया में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आधिकारिक कार्यक्रम का आयोजन उनकी जन्मस्थली जर्मनी (Germany) के ट्रियर (Trier) नामक स्थान पर हुआ।
– उल्लेखनीय है कि कम्यूनिस्ट घोषणापत्र (Communist Manifesto) तैयार करने वाले कार्ल मार्क्स के सिद्धांतों की लोकप्रियता के बारे में भले प्रश्न उठाए जा रहे हों क्योंकि पिछले 100 वर्षों में तमाम समाजवादी देशों में हुई घटनाएं इस ओर इशारा करती हैं लेकिन आधुनिक युग के अद्वितीय विचारक और मानव सम्मान के मौलिक विचारों के सम्बन्ध में उनका कद लम्बे अर्से तक ऊँचा बना रहेगा।

###########
दिग्गज अमेरिकी रिटेल समूह वॉलमार्ट इन्कॉरपोरेटेड (Wal-Mart Inc.)ने 9 मई 2018 को घोषणा की कि उसने एक समझौता किया है जिससे वह भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कम्पनी फ्लिपकार्ट समूह (Flipkart Group) में सबसे बड़ा हिस्सेदार (largest shareholder) बन जायेगा। इस समझौते के तहत वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट में की लगभग 77% हिस्सेदारी को लगभग 16 अरब डॉलर की भारी-भरकम कीमत में खरीदेगा। हालांकि इस करार को अभी भारतीय नियामकों की मंजूरी मिलना शेष है। इस सौदे ने फ्लिपकार्ट का कुल मूल्यांकन लगभग 20.8 अरब डॉलर ($20.8 billion) का किया है जबकि कम्पनी का पूर्व मूल्यांकन मात्र 12 अरब डॉलर के आस-पास था।
हिस्सेदारी के इस करार के क्रियान्वित होने के बाद फ्लिपकार्ट में अधिशेष लगभग 23% हिस्सेदारी उसके वर्तमान शेयरधारकों में रह जायेगी, जिनमें प्रमुख हैं – फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक बिन्नी बंसल (Binny Bansal), टेनसेंट होल्डिंग्स लिमिटेड (Tencent Holdings Limited), टाइगर ग्लोबल मैनेजमेण्ट (Tiger Global Management LLC) और माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन (Microsoft Corp.)। वहीं फ्लिपकार्ट के एक अन्य सह-संस्थापक सचिन बंसल (Sachin Bansal) कम्पनी में अपनी 5.96% की हिस्सेदारी को बेच कर कम्पनी से बाहर हो जायेंगे। इसके लिए उन्हें लगभग 1.23 अरब डॉलर हासिल होंगे।
– इस सम्बन्ध में वॉलमार्ट द्वारा की गई घोषणा के अनुसार उसका प्रारंभिक फोकस तो कम्पनी के वर्तमान ग्राहकों को और बेहतर सेवाएं देने और व्यवसाय की वृद्धि सुनिश्चित करने पर होगा लेकिन भविष्य में फ्लिपकार्ट को सार्वजनिक तौर पर सूचीबद्ध करने पर भी कम्पनी का ध्यान रहेगा।

###########
ब्लैकरॉक इन्कॉर्पोरेटड (BlackRock Inc.), जिसकी डीएसपी ब्लैकरॉक म्यूचुअल फण्ड (DSP BlackRock Mutual Fund) में 40% हिस्सेदारी है, ने 7 मई 2018 को घोषणा की कि वह इस साझा उपक्रम (joint venture) से बाहर हो रहा है। डीएसपी समूह (DSP Group), जो इस म्यूचुअल फण्ड उपक्रम का अन्य साझीदार है, ब्लैकरॉक की हिस्सेदारी को खरीद लेगा तथा ब्लैकरॉक इस प्रकार इस उपक्रम से बाहर हो जायेगा।
– इस सौदे के पूरा होने के बाद डीएसपी ब्लैकरॉक म्यूचुअल फण्ड को डीएसपी म्यूचुअल फण्ड (DSP Mutual Fund) के नाम से जाना जायेगा जबकि इस उपक्रम की होल्डिंग कम्पनी का नाम डीएसपी इन्वेस्टमेण्ट मैनेजर्स (DSP Investment Managers) होगा। इस उपक्रम द्वारा मार्च 2018 की समाप्ति तक लगभग 86,326 करोड़ रुपए का प्रबन्धन विभिन्न म्यूचुअल फण्ड योजनाओं में किया जा रहा था तथा इसका भारत के म्यूचुअल फण्ड बाजार में लगभग 4% का हिस्सा है। उल्लेखनीय है कि 150 वर्ष पुराने डीएसपी समूह ने भारत में खुदरा परिसम्पत्ति प्रबन्धन व्यवसाय (retail asset management business) में उतरने के लिए 1996 में मैरिल लिन्च इन्वेस्टमेण्ट मैनेजर्स (Merrill Lynch Investment Managers) के साथ एक समझौता किया था। लेकिन ब्लैकरॉक द्वारा वर्ष 2006 में मैरिल लिन्च इन्वेस्टमेण्ट मैनेजर्स का व्यवसाय खरीदने के बाद वर्ष 2008 में ब्लैकरॉक इस उपक्रम (DSP Merrill Lynch Asset Management) के द्वारा भारत में प्रविष्ट हो गया था तथा इसका नाम बदलकर DSP BlackRock Mutual Fund हो गया।

आयुष्मान भारत
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केन्द्र सरकार की महात्वाकांक्षी योजना “आयुष्मान भारत” (“Ayushman Bharat”) को 14 अप्रैल 2018 को लाँच किया जिसके तहत देश भर के 10 करोड़ उपेक्षित व गरीब परिवारों को 5 लाख रुपए तक का वार्षिक मेडिकल कवर प्रति परिवार उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना के तहत देश के पहले हेल्थकेयर व वेलनेस सेण्टर को बीजापुर (छत्तीसगढ़) शुरू किया गया.
उल्लेखनीय है कि “आयुष्मान योजना” (जिसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षा योजना के नाम से भी जाना जाता है) के तहत दो मिशन कार्ययोजनाओं का खाका तैयार किया गया है – पहला, विस्तृत प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए देश भर में हेल्थकेयर व वेलनेस सेण्टरों का संजाल खोलना और दूसरा, देश की 40% सबसे उपेक्षित व गरीब आबादी को स्वास्थ्य बीमा कवर मुहैया कराना। योजना के तहत देश भर के 10 करोड़ उपेक्षित व गरीब परिवारों को 5 लाख रुपए तक का वार्षिक मेडिकल कवर प्रति परिवार उपलब्ध कराने का महात्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

#########
आईआरएनएसएस-1एल (IRNSS-1I)
भारत के लगभग दो दशक पुराने स्वदेशी नौवहन उपग्रह प्रणाली के सपने को 12 अप्रैल 2018 को तब पंख लगे जब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की पुरानी व भरोसेमंद रॉकेट श्रृंखला पीएसएलवी (PSLV) के नवीनतम रॉकेट पीएसएलवी-सीC41 (PSLV-C41) ने आईआरएनएसएस-1एल (IRNSS-1I) उपग्रह को सफलतापूर्वक प्रक्षेपित कर पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर दिया। आईआरएनएसएस-1एल आईआरएनएसएस श्रृंखला का आठवाँ व अंतिम रॉकेट है तथा इसके साथ भारत की बहुप्रतीक्षित स्वदेशी नौवहन उपग्रह प्रणाली का ढांचा तैयार हो गया है। इसके चलते भारत को अब अमेरिका की जीपीएस (GPS) जैसी नौवहन प्रणाली पर निर्भर नहीं रहना होगा।
– 44.4 मीटर लम्बा और 321 टन भार वाला पीएसएलवी-सी41 रॉकेट 12 अप्रैल 2018 की प्रात: 4:04 पर आन्ध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा (Sriharikota) स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र (Satish Dhawan Space Centre – SDSC) से प्रक्षेपित किया गया। इसने कुछ ही समय बाद आईआरएनएसएस-1एल उपग्रह को अपनी अपेक्षित कक्षा में प्रतिष्ठापित कर दिया। उल्लेखनीय है कि स्वदेशी नौवहन उपग्रह प्रणाली पर कार्य लगभग 17 वर्ष पहले शुरू किया गया था क्योंकि 1999 में अमेरिकी सरकार ने कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान दस्तों की स्थिति बताने के लिए अपनी GPS प्रणाली से प्राप्त जानकारी भारत को देने से इंकार कर दिया था।

#########
बैंक बोर्ड ब्यूरो (Banks Board Bureau – BBB) का नया अध्यक्ष
भानु प्रताप शर्मा (Bhanu Pratap Sharma) को 12 अप्रैल 2018 को केन्द्र सरकार ने बैंक बोर्ड ब्यूरो (BBB) का नया अध्यक्ष नियुक्त किया तथा उन्होंने वर्ष 2016 से इस बोर्ड की स्थापना से इसका नेतृत्व कर रहे भारत के पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) विनोद राय (Vinod Rai) का स्थान लिया है।
भानु प्रताप शर्मा बिहार के पूर्व प्रधान सचिव (वित्त) रहने के अलावा रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) में भर्ती एवं कर्मियों के आकलन केन्द्र के अध्यक्ष थे। केन्द्र सरकार ने बैंक बोर्ड ब्यूरो का पुनर्गठन किया है तथा इसमें शामिल किए गए कुछ नए सदस्य हैं – वेदिका भण्डारकर, पी. प्रदीप कुमार और प्रदीप शाह। उल्लेखनीय है कि देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रबन्ध निदेशकों (MDs) तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (CEOs) के चयन के उद्देशय से बैंक बोर्ड ब्यूरो का गठन अप्रैल 2016 में किया गया था। विनोद राय इसके पहले अध्यक्ष थे।
#########
आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi)
4G के बाद अब देश में 5G सेल्यूलर संचार प्रौद्यौगिकी को जन-जन तक पहुँचाने के लिए भारतीय प्रौद्यौगिकी संस्थान, नई दिल्ली (IIT Delhi) में देश की पहली 5G प्रयोगशाला का उद्घाटन 13 अप्रैल 2018 को किया गया। 5जी टेक्नॉलजी में नैशनल लेवल पर होने वाले काम इसी लैब में होंगे और भारत के स्तर पर जो भी गोल सेट किए जाएंगे उस पर यहां मिल-जुल कर काम होगा। इस लैब में ही मैसिव मल्टीपल-इनपुट मल्टीपल-आउटपुट प्रौद्यौगिकी (MIMO technology) पर आधारित लैब भी खोली गई है जो सेल्यूलर उपकरणों से होने वाले विकिरण (emittance and radiation) को कम करने अथवा नियंत्रित करने की दिशा में काम कर 5G प्रौद्यौगिकी को मानवीय उपयोग के लिए अधिकाधिक सुरक्षित बनाने का प्रयास करेगी।

#######
ऑडिटिंग के लिए नई नियामक संस्था __ राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (National Financial Reporting Authority – NFRA
देश में ऑडिटिंग क्षेत्र में संलग्न प्रोफेशनल्स और संस्थाओं द्वारा खातों में हो रहे बड़े हेर-फेर को नज़र-अंदाज़ करने की प्रवृत्ति पर केन्द्र सरकार के कड़े रुख को ध्यान में रखकर केन्द्रीय कैबिनेट ने 1 मार्च 2018 को एक ऐसे स्वतंत्र नियामक (independent regulator) की स्थापना का रास्ता साफ कर दिया जो चार्टर्ड एकाउण्टेंट्स (CAs) तथा उनकी फर्मों दोनों को अपनी परिधि में लायेगा। – राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (National Financial Reporting Authority – NFRA) राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (NFRA) केन्द्र सरकार द्वारा प्रस्तावित उस नई नियामक संस्था का नाम है जिसकी स्थापना को केन्द्रीय कैबिनेट ने 1 मार्च 2018 को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी। इसका मुख्य उद्देश्य ऑडिटिंग फर्मों तथा चार्टर्ड एकाउण्टेंट्स दोनों को अधिक अनुशासन से अपना काम करने के लिए जमीन तैयार करना है।- उल्लेखनीय है कि अभी तक गलतियाँ कर रहीं चार्टर्ड एकाउण्टेंट फर्मों को दण्डित करने का कोई वैधानिक प्रावधान नहीं है लेकिन राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण की स्थापना का मार्ग प्रशस्त कर केन्द्र सरकार ने इस समस्या को दूर करने की दिशा में सशक्त प्रयास किया है। हालांकि प्राधिकरण का अधिकार क्षेत्र आरंभ में सिर्फ सूचीबद्ध तथा कुछ बड़ी असूचीबद्ध कम्पनियों की ऑडिट करने वाले सीए तथा सीए फर्मों पर ही होगा।- अभी तक इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउण्टेण्ट्स ऑफ इण्डिया (Institute of Chartered Accountants of India’s – ICAI) चार्टर्ड एकाउण्टेण्ट्स तथा इनकी फर्मों पर नज़र रखता है तथा इसके अधिकार क्षेत्र को समाप्त न करते हुए इन्हें सिर्फ प्राधिकरण के अस्तित्व में आने के बाद सीमित किया जायेगा

########
मार्च 2018 को दिवंगत हुए टी. थॉमस (T. Thomas) किस कॉरपोरेट कम्पनी के पूर्व अध्यक्ष थे? – हिन्दुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड (HUL) हिन्दुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड (जोकि उस समय हिन्दुस्तान लीवर लिमिटेड (Hindustan Lever Limited – HLL) के नाम से जानी जाती थी) के पूर्व अध्यक्ष टी. थॉमस (T.Thomas) का 2 मार्च 2018 को 90 वर्ष की आयु में मुम्बई में निधन हो गया। उन्होंने 1973 से 1980 के बीच कम्पनी की कमान संभालने के अलावा मातृ कम्पनी यूनीलीवर (Unilever) के निदेशक के रूप में भी योगदान दिया था।- थॉमस ने जब हिन्दुस्तान यूनीलीवर की कमान संभाल रखी थी तब देश में मूल्य नियंत्रण (price control) का कठिन दौर चल रहा था। उन्होंने अपने प्रयासों से यूनीलीवर को उस समय के विदेशी विनिमय नियमन कानून (FERA) के तहत नियंत्रण-योग्य हिस्सेदारी (majority holding) दिलाने में प्रमुख भूमिका निभाई थी। इसके अलावा उन्होंने कम्पनी के मैनेजमेण्ट ट्रेनी कार्यक्रमों में भी एक बड़ा बदलाव लेते हुए नए प्रशिक्षुओं को ग्रामीण अंचलों में काम करने का मौका प्रदान कर उनके सर्वांगीण विकास में भूमिका निभाई थी।
90वें अकादमी पुरस्कार (90th Academy Awards) समारोह का आयोजन 4 मार्च 2018 को लॉस एंजिल्स (Los Angeles) स्थित डॉल्बी थियेटर (Dolby Theatre) में हुआ। इस बार किस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म समेत सर्वाधिक 4 ऑस्कर पुरस्कार हासिल हुए – “द शेप ऑफ वॉटर” (“The Shape of Water”)
वर्ष 2017 में आई अमेरिकी फंतासी फिल्म “द शेप ऑफ वॉटर” (“The Shape of Water”) इस वर्ष के अकादमी पुरस्कार समारोह की सबसे सफल फिल्म रही। इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म व सर्वश्रेष्ठ निर्देशन (गुलेर्मो डेल टोरो – Guillermo del Toro) समेत कुल 4 ऑस्कर पुरस्कार प्राप्त हुए। यह अकादमी पुरस्कार समारोह का 90वाँ संस्करण था तथा अकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एण्ड साइंसेज़ द्वारा आयोजित इस समारोह की एक बड़ी विशेषता यह रही कि प्राय: फरवरी के अंत में आयोजित किए जाने वाले इस वार्षिक समारोह को इस बार शीतकालीन ऑलम्पिक खेलों के कारण 4 मार्च को आयोजित किया गया।- सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार “डार्केस्ट ऑवर” (‘Darkest Hour’) में विंस्टन चर्चिल की भूमिका निभाने वाले अभिनेता गेरी ओल्डमैन (Gary Oldman) को मिला जबकि सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का ऑस्कर फिल्म “थ्री बिल्बोर्ड्स आउटसाइट एबिंग, मिसूरी” (‘Three Billboards Outside Ebbing, Missouri’) के लिए फ्रांसेस मैकडॉरमण्ड (McDormand) को मिला।- वहीं 89-वर्षीय जेम्स आइवरी (James Ivory) ऑस्कर पुरस्कार जीतने वाले सबसे अधिक आयु वाले व्यक्ति बन गए। उन्हें फिल्म ‘Call Me By Your Name’ में पटकथा लेखन के लिए यह पुरस्कार मिला।

#########
श्री काँची कामकोटि पीठ (Sri Kanchi Kamakoti Peetam) के शंकराचार्य (Shankaracharya) जयेन्द्र सरस्वती (Jayendra Saraswathi) का 28 फरवरी 2018 को 82 वर्ष की आयु में निधन हो गया।? – विजयेन्द्र सरस्वती (Vijayendra Saraswathi) तमिलनाडु स्थित श्री काँची कामकोटि पीठ के 69वें शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती (Jayendra Saraswathi) का 28 फरवरी 2018 को निधन हो गया। 82 वर्षीय जयेन्द्र को हृदयघात हुआ था तथा काँची के एक अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। आदि शंकराचार्य द्वारा स्थापित इस पीठ के मुखिया के रूप में जयेन्द्र सरस्वती ने दिवंगत चन्द्रशेखरेन्द्र सरस्वती (Chandrasekarendra Saraswathi) से यह जिम्मेदारी संभाली थी।- कांची पीठ के मुखिया के तौर पर जयेन्द्र सरस्वती ने पीठ द्वारा शुरू किए गए तमाम समाजिक सरोकारों के संचालन में अहम भूमिका निभाई थी जैसे “शंकर आई हॉस्पिटल”। उनके बाद पूर्व में ही चयनित उनके उत्तराधिकारी विजयेन्द्र सरस्वती ने उनसे यह जिम्मेदारी संभाली।

#########
– एयरसेल (Aircel)
देश की छठवीं सबसे बड़ी टेलीकॉम कम्पनी एयरसेल (Aircel) ने अपने तथा अपनी दो इकाइयों (एयरसेल सेल्यूलर और डिशनेट वायरलेस) को दीवालिया घोषित किए जाने के लिए अपना आवेदन राष्ट्रीय कम्पनी कानून न्यायाधिकरण (National Companies Law Tribunal – NCLT) में 28 फरवरी 2018 को दायर किया। अपनी प्रमोटर कम्पनी मलेशिया (Malaysia) स्थित मैक्सिस कॉम्यूनिकेशन्स (Maxis Communications) द्वारा व्यवसाय में और धन निवेशित न किए जाने के निर्णय के बाद एयरसेल ने दीवालिया घोषित किए जाने का आवेदन किया है।- इसके साथ ही एयरसेल भारत की चौथी टेलीकॉम कम्पनी बन गई है जिसने भारी प्रतिस्पर्धा तथा कर्जे के बढ़ते बोझ के कारण अपना टेलीकॉम परिचालन बंद करने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व अनिल अम्बानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कॉम्यूनिकेशन्स (Reliance Communications), नॉर्वे की टेलीकॉम कम्पनी टेलीनॉर (Telenor) और टाटा समूह की टाटा टेलीसर्विसेज़ (Tata Teleservices) ने स्वयं को टेलीकॉम व्यवसाय से बाहर करने तथा अपना व्यवसाय बेचने की घोषणा की थी।

You may also like...