Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_grid_manager_object.labels.php on line 2

Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_shortcode_object.labels.php on line 2

Warning: Creating default object from empty value in /home/vwebqlld/public_html/examguider.com/wp-content/plugins/widgetize-pages-light/include/otw_labels/otw_sbm_factory_object.labels.php on line 2
डॉक्टर्स विदाउट बोर्डर्स – Exam Guider

डॉक्टर्स विदाउट बोर्डर्स

डॉक्टर्स विदाउट बोर्डर्स

इसकी स्थापना वर्ष 1971 में पेरिस में हुई थी। इस संस्था का मूल नाम मेडिसिन्स सैंज फ्रंटियर्स है। इसकी स्थापना उन डॉक्टर्स द्वारा की गई थी जो बगैर किसी सीमाई ।
बाधा के प्राकृतिक आपदाओं, युद्ध आदि अवसरों पर मानव सेवा के लिए प्रतिबद्ध रहते हैं। प्रत्येक वर्ष यह संगठन डॉक्टर और अन्य चिकित्सा पदाधिकारियों को विभिन्न देशों में पीड़ित लोगों की सेवा के लिए भेजता है। इस संगठन को उल्लेखनीय योगदान के लिए वर्ष 1999 में शांति का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था।

ह्यूमन राइट्स वॉच

इस गैर सरकारी संगठन की स्थापना 1978 में न्यूयार्क में हुई थी। यह संस्था अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, महिला तथा बच्चों के अधिकार के लिए प्रयासरत है।

डिफेंस फॉर चिल्ड्रेन इंटरनेशनल


इस गैर सरकारी संगठन की स्थापना ।979 में जेनेवा में हुई थी। यह विश्व भर के बच्चों के अधिकारों के लिए कार्य करता है और इस संबंध में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करता है। सोशलिस्ट इंटरनेशनल वुमेन इसकी स्थापना 1955 में लंदन में हुई थी। यह समाजवादी विचारधारा लिंग आधारित समानता तथा अन्य तरह के महिला और नागरिक अधिकारों के लिए संघर्षरत है।

इंडो-रशियन प्रास्टीट्यूशन कैम्पेंन


इस गैर सरकारी संगठन की स्थापना 1990 में बैंकाक में हुई थी। 18 एशियाई देशों में कार्यरत यह संस्था पर्यटन के नाम पर जारी वेश्यावृति के रिखलाफ कार्य करता है। वुमेंस इंटरनेशनल डेमोक्रेटिक फेडरेशन इसकी स्थापना 1954 में पेरिस में हुई थी। विभिन्न देशों में अपनी शाखाओं के माध्यम से यह प्राकृतिक सीमाओं, धर्म, जाति व।राजनीतिक विचार धाराओं से ऊपर उठकर माता, श्रमिक व नागरिक के रूप में महिलाओं के अधिकारों के लिए आवाज उठाता है।

इंटरनेशनल कमीशन ऑफ ज्यूरिस्ट


इस गैर सरकारी संगठन ने अपने तौर पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा मानव आधिकारों की दिशा में उठाए गए कदमों का समर्थन किया है आर उनकी संतुष्टि के लिए सहायक कार्यवाही भी की है। यह विश्व के विभिन्न हिस्सों में नागरिक तथा राजनीतिक अधिकारों लिए प्रयत्नशील है और अपनी भूमिका का बखूबी निर्वाह करता रहा है। 1974-77 ई. के भारतीय आपात काल के दौरान इसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

You may also like...