Category: Geography

जल संसाधन संरक्षण एवं विकास

जल संसाधन संरक्षण एवं विकास जल एक बहुमूल्य संसाधन है। यह कहीं विकास का तो कहीं विनाश का कारक बनता है। जनसंख्या वृदधि एवं भावी आवश्यकता को देखते हुए जल के एक-एक बुंद की...

दादरा और नागर हवेली ,दमन और दीव

दादरा और नागर हवेली ,दमन और दीव

दादरा और नागर हवेली  क्षेत्रफल- 491 वर्ग किमी., जनसंख्या- 2,20,490, पुरुष- 1,21,666,  महिलाएं- 98, 824, राजधानी- सिलवासा, मुख्य भाषाएं- गुजराती, हिन्दी, मराठी एवं अंग्रेजी, उच्च न्यायालय- मुंबई, शहरी जनसंख्या- 22.9 प्रतिशत, जनसंख्या घनलत्व- 449...

मुम्बई एवं हैदराबाद: यूनेस्को के रचनात्मक शहरों में शामिल

मुम्बई एवं हैदराबाद: यूनेस्को के रचनात्मक शहरों में शामिल  रचनात्मक शहरों का नेटवर्क यूनेस्को  के रचनात्मक शहरों के नेटवर्क’ (UCCN UNISCO Creative Cities Network) का सृजन वर्ष 2004 में ऐसे शहरों के मध्य सहयोग...

दादरा और नागर हवेली तथा दमण और दीव (संघ राज्य क्षेत्रों का विलय) अधिनियम,2019

दादरा और नागर हवेली तथा दमण और दीव (संघ राज्य  क्षेत्रों का विलय) अधिनियम,2019 31 अक्टूबर, 2019 से जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम, 2019 के प्रभावी होने के पश्चात भारत में राज्यों की संख्या...

आंध्र प्रदेश की तीन राजधानियां

आंध्र प्रदेश की तीन राजधानियां 20 जनवरी, 2020 को अंध प्रदेश राज्य की विधानसभा ने राज्य में तीन राजधानियां बनाने की योजना संबंधी ‘ आंध्र प्रदेश विकेंद्रीकरण और सभी क्षेत्रों का रामावेशी विकास विधेयक,...

हिम क्षेत्र एवं हिमनद क्या है?

हिम क्षेत्र एवं हिमनद क्या है? हिम रेखा के ऊपर स्थित उस भाग को हिम क्षेत्र कहते हैं, जहाँ सदैव हिम आच्छादित रहती है। ये क्षेत्र सर्वत्र स्थायी रूप में सीमाबन्धन होकर ऋतु परिवर्तन...

मृदा प्रदूषण क्या है ? एवं रोकने के उपाय

मृदा प्रदूषण क्या है? एवं रोकने के उपाय भूमि अथवा भू एक व्यापक शब्द है, जिसमें पृथ्वी का सम्पूर्ण धरातल समाहित है किन्तु मूल रूप से भूमि की ऊपरी परत, जिस पर कृषि की...

अपोलो-11 मिशन के 51 वर्ष

अपोलो-11 मिशन के 51 वर्ष  पृथ्वी के इतर किसी आकाशीय पिंड पर मानव द्वारा कदम रखने की 50वीं वर्षगांठ 20 जुलाई, 2019 को मनायी गयी। उल्लेखनीय है 20 जूलाई, 1969 को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी...

बाघ प्रजातियां(TIGER species)

बाघ प्रजातियां (TIGER species) पूरे विश्व में बाघ की 9 प्रजातियां रही हैं जिनमें से तीन प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं। ये प्रजातियां निम्नलिखित हैं; 1. अमूर (या साइबेरियन टाइगर ): बाघ की उप-प्रजातियों...